Power gimmick in Israel at its peak, Netanyahu like Trump and Bidenism in Israel now | इजरायल में सत्ता की नौटंकी चरम पर, नेतन्याहू ट्रम्प की तरह और इजरायल में अब बाइडेनवाद

Hindi News Opinion Power Gimmick In Israel At Its Peak, Netanyahu Like Trump And Bidenism In Israel Now 12 घंटे पहले कॉपी लिंक थाॅमस एल. फ्रीडमैन, तीन बार पुलित्ज़र अवॉर्ड विजेता एवं ‘द न्यूयॉर्क टाइम्स’ …


  • Hindi News
  • Opinion
  • Power Gimmick In Israel At Its Peak, Netanyahu Like Trump And Bidenism In Israel Now

12 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
थाॅमस एल. फ्रीडमैन, तीन बार पुलित्ज़र अवॉर्ड 
विजेता एवं ‘द न्यूयॉर्क टाइम्स’ में नियमित स्तंभकार - Dainik Bhaskar

थाॅमस एल. फ्रीडमैन, तीन बार पुलित्ज़र अवॉर्ड विजेता एवं ‘द न्यूयॉर्क टाइम्स’ में नियमित स्तंभकार

इजरायल में चल रही राजनीतिक नौटंकी और प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू को हटाने के लिए बन रहे राष्ट्रीय एकता गठबंधन को समझने के लिए आपको बस एक चीज समझनी होगी: नेतन्याहू अपने दुश्मनों को ट्रम्प से भी ज्यादा गुस्सा दिला रहे हैं।

ट्रम्प की तरह नेतन्याहू की चुनाव जीतने की राजनीतिक रणनीति अपनी शख्सियत के ‘पंथ’ को बढ़ावा देना और इजरायल को यहूदी बनाम अरब, दक्षिण बनाम वाम, धार्मिक बनाम धर्मनिरपेक्ष में बांटना रही है। ट्रम्प की तरह ही बीबी ने खुशी-खुशी इजरायल के लोकतांत्रिक संस्थानों को कमजोर किया। इससे समझ आता है कि क्यों उनका भविष्य अब रिश्वत आदि के आरोपों की जांच में उलझा है। सुना-सुना सा लगता है न?

ट्रम्प की तरह बीबी भी इजरायली समाज को गृहुयद्ध की तरफ ले जा रहे थे और हैं। इसीलिए इजरायल अभी नाजुक दौर में है और नेतन्याहू को हटाकर सरकार बनाने की प्रक्रिया को खत्म होने में बहुत वक्त है। ‘बदलाव गठबंधन’ की सरकार आने से पहले नेतन्याहू और उनके राजनीतिक समर्थक सत्ता का हस्तांतरण रोकने के लिए किसी भी हद तक जाएंगे। सुना-सुना सा लगता है न?

कई मायनों में, बीबी को बेदखल करने की कोशिश करने के लिए आया गठबंधन इजरायल के लिए बाइडेनवाद के बराबर है। बाइडेनवाद यानी समाज के सुधार में विश्वास रखने वाले लोगों का आंदोलन। बाइडेनवाद के इजरायली स्वरूप को येश अतिद पार्टी के संस्थापक याएर लापिड के नाम पर लापिडवाद कह सकते हैं। लापिडवाद विचारधारा को कमतर आंकने, व्यावहारिक रूप से जो काम करता है उसे करने और इजरायल के लोकतांत्रिक संस्थानों के स्वास्थ्य को बहाल करने के बारे में है, जो बीबी युग में बुरी तरह प्रभावित थे।

बीबी विरोधी गठबंधन की इच्छा इतनी तीव्र है कि वह इजरायल के राजनीतिक इतिहास में सबसे बड़ी राजनीतिक वर्जना को तोड़ रहा है: वह राष्ट्रीय एकता गठबंधन में इजरायली इस्लामी पार्टी के साथ काम करने को तैयार है। इजरायली मीडिया के मुताबिक, इजरायली अरब राम पार्टी के नेता मंसूर अब्बास ने इजरायली राजनीतिक इतिहास बना दिया, जब उन्होंने उस समझौते पर हस्ताक्षर किए, जिससे पहली बार कोई अरब पार्टी सरकार से जुड़ेगी।

लापिड और नेफ्तली बेनेट की पार्टियों के इस गठबंधन का मुख्य आधार बेशक नेतन्याहू का विरोध है। लेकिन मैंने यह भी देखा है कि मध्य पूर्व की राजनीति में सबसे बड़ी सफलता वास्तव में तब होती है जब आप बड़े खिलाड़ियों को गलत कारणों से सही काम करने के लिए कहते हैं। मुझे अब भी चिंता है कि क्या यह इजरायली ‘बदलाव गठबंधन’ लंबे समय तक सत्ता में रह पाएगा क्योंकि यह नाजुक है और संभवत: हिंसक ताकतें इसे रोकने का प्रयास करें। लेकिन अच्छी बात यह है कि पहली बार न सिर्फ इजरायली-यहूदी पार्टियां, बल्कि दक्षिणपंथी यहूदी पार्टियां एक साथ आने तैयार हुईं और न सिर्फ इजरायली अरब पार्टी, बल्कि इजरायली अरब इस्लामी पार्टी के साथ भी।

जिस तरह ट्रम्प-प्रेरित भीड़ द्वारा यूएस कैपिटल में तोड़फोड़ करने से अमेरिकियों को इस बात की गहराई समझ आई कि गृह युद्ध कैसा दिख सकता है, इजरायल और हमास के बीच 11 दिवसीय युद्ध ने भी ऐसी ही गहराई में झांकने के लिए इजरायली यहूदियों को मजबूर किया है। काश, मैं कह सकता कि उस रसातल को देखने के बाद, मुझे यकीन है कि दोनों समाजों में शालीनता की ताकतें पीछे हट रही हैं और बाइडेनवाद और लापिडवाद भविष्य हैं। काश मैं ऐसा कह पाता। लेकिन मैं नहीं कर सकता।

(ये लेखक के अपने विचार हैं)

खबरें और भी हैं…

Leave a Comment